-------------अल्लाह जिसे चाहे उसे देता है सब कुछ ---------------




ज़ुल्मत  को  घटा  कहने  से  खतरा  नहीं   जाता 

दीवार    से    भूचाल   को   रोका    नहीं     जाता 


     जात ओ   के    तराजू   में    अजमत   नहीं    तुलती 

     फीते  से   तो     किरदार    को    नापा    नहीं     जाता 


दरया   के    किनारे    तो   पहुँच    जाते     हैं  प्यासे 

प्यासों   के   घर   को    कभी   दरया   नहीं   जाता  



वापिस   नहीं   होना   हैं   तो   पांव   ही   कटा    दो
इस   मोड़  से   आगे   कोई   रास्ता    नहीं   जाता   



अल्लाह   जिसे   चाहे   उसे   देता   है    सब    कुछ  

   इज्ज़त   को    दुकानों    से   खरीदा   नहीं    जाता   !
Blogger Wordpress Tips